Thursday, May 21, 2015

अच्छी फिल्मो से ही बनती है पहचान - अपूर्वा

मैं अपने पाँव पर खड़ी होना चाहती हूँ, आत्मनिर्भर बनना चाहती हूँ , यही सोचकर भोजपुरी फिल्म जगत से जुडी और मुझे ख़ुशी है की भोजपुरी ने मुझे अपना लिया और मैं भोजपुरी में अपनी अलग पहचान बनाने में सफल रही हूँ।   ये वक्तव्य अभिनेत्री अपूर्वा बिट द्वारा दिया गया है। सिलवासा में अपनी अगली फिल्म बरसात की शूटिंग के दौरान पत्रकारों से बातचीत करते हुए अपूर्वा ने  विभिन्न मुद्दो पर बेबाकी से अपनी राय रखी।   प्रस्तुत है कुछ अंश -
बरसात में अपूर्वा क्या कर रही है  ? 
बरसात गर्मी से निजात दिलाता है और मेरा किरदार इस फिल्म में बिल्कुल अलग है , जो एक आम लड़की होते हुए भी ख़ास बनने की चाहत रखती है।  अच्छी कहानी और अच्छे निर्देशक मोहन आज़ाद के साथ राकेश मिश्रा और नेहा श्री जैसे कलाकार हैं तो बरसात का आनंद बढ़ जाता है।
आपकी  आने वाली फिल्मे कौन कौन सी है   ?
जगदीश शर्मा  की एक्शन थ्रिलर ‘‘हथियार’’ है। इसमें मैं एक चुलबुली लड़की हूँ। विराज भट्ट, विशाल मेरे हीरो हैं।
ये तो आने वाली है, जो आकर चली गयी, वो?
राजीव राय के निर्देशन में बनी ‘‘मेरे साजन तेरे कारण’’। हाल ही में प्रदर्शित हुई है हमसे बढ़कर कौन , जिसमे मैं एक टपोरी लड़की की भूमिका में थी।  इसी साल रिलीज़ हुई है  सेटिंगबाज़ , राहुल  सिंह इस फिल्म  में मेरे  हीरो थे । सहारा टीवी पर भी कई धाराावाहिकों में काम किया। महुआ टीवी के ‘जुगाड़ूलाल’ में मैं और राहुल साथ-साथ थे। इसके पूर्व  साथ बीबी नंबर १ और लाल दुपट्टा मलमल का भी रिलीज़ हुई है।
 आप तो बंगाल से हैं, सीधे भोजपुरी सिनेमा में कैसे आ गयीं?
सीधे नहीं आयी। बांग्ला फिल्मों के सीनियर और सुपर स्टार प्रसन्नजीत जी  के साथ मैंने एक फिल्म की है-‘‘बंधु’’। फिर मुुंबई आ गयी और श्रीधर शेट्टी  की फिल्म ‘‘खूनी दंगल’’ से भोजपुरी में आ गयी। विनय आनंद मेरे हीरो थे।
इस यात्रा का मूल कारण बंगला फिल्मोद्योग में मनोनुकूल ‘रिस्पाँस’ नहीं मिलना था, क्या?
नहीं, मैं चाहती थी, एक दायरे में नहीं बंधू। राष्ट्रीय स्तर पर अपनी पहचान बनाना चाहती थी, पर सीधे हिन्दी में प्रवेश थोड़ा रिस्की लगा। अब भोजपुरी ही अकेली एक क्षेत्रीय भाषा है, जो एक चोथाई देश को कवर करती है और मैं आ गई।
भोजपुरी फिल्म जगत में खुद को कहाँ पाती हैं आप ? 
मैंने बहुत ज्यादा काम नहीं किया , पर जो भी किया उससे मुझे संतुष्टि मिली है।  दर्शको का प्यार और निर्माता - निर्देशकों का भरोसा मिले यही एक कलाकार की चाहत रहती है। खुद का मुकम्मल स्थान बनाने के लिए फिल्मो की संख्या मायने नहीं रखती बल्कि अच्छी फिल्म और अच्छे किरदार से पहचान बनती है।   udaybhagat@gmail.com

मनोज टाइगर अब ला रहे हैं बताशा चाचा २ Batasha Chacha 2


भोजपुरी फिल्म जगत में कॉमेडी को मुकम्मल स्थान दिलाने वाले अभिनेता मनोज टाइगर अब हास्य से भरपूर अपनी एक फिल्म बताशा चाचा के सीक्वल बताशा चाचा २ में दिखेंगे। बताशा चाचा २ की खासियत है की यह  मनोज टाइगर की यह सौवीं फिल्म होगी।  उल्लेखनीय है की बचपन से ही अभिनय की चाहत रखने वाले मनोज टाइगर रंगमंच के मंझे हुए कलाकार हैं।  हरफनमौला मनोज ना सिर्फ अभिनय बल्कि फिल्म लेखन व नाटको के लेखन निर्देशन में भी ख्याति अर्जित कर चुके हैं।  चार साल पहले उनकी एक फिल्म आई थी बताशा चाचा जिसमे वो केंद्रीय भूमिका में थे। हास्य व  मनोरंजन से भरपूर उस फिल्म को दर्शको का भरपूर प्यार मिला था।  अब उसी फिल्म की अगली कड़ी के रूप में आ रही है बताशा चाचा २ जिसके निर्देशक है मेराज़ खान।  अविनाश फिल्म प्रोडक्शन के बैनर तले बनने वाली इस फिल्म के निर्माता डॉ एस डी गौतम व सह निर्माता मुख्तार अहमद हैं. फिल्म के संगीतकार हैं अनुज तिवारी जबकि गीतकार हैं प्यारेलाल कविजी। बताशा चाचा २ में भी मनोज टाइगर केंद्रीय भूमिका में हैं जबकि उनका साथ दे रहे हैं प्रकाश जैस, के के गोस्वामी, संतोष श्रीवास्तव, संजय वर्मा , राहुल श्रीवास्तव और राजकपूर शाही।  मनोज टाइगर के अनुसार बताशा चाचा २ में बताशा चाचा से भी अधिक हास्य का रंग बिखेरा जाएगा , ताकि दर्शक जब फिल्म देख कर बाहर निकले तो उनके चेहरे पर भरपूर मुस्कान रहे।    udaybhagat@gmail.com

Wednesday, May 20, 2015

जून में बलम रसिया


भोजपुरी फिल्म जगत की बहुचर्चित फिल्म बलम रसिया जून  में प्रदर्शित हो  रही है  .
   एक्शन किंग यश मिश्रा और चर्चित अदाकारा परी सिंघानिया की रोमांटिक जोड़ी वाली इस फिल्म का निर्माण प्रतिभा सिंह , नीरज गुप्ता और दुष्यंत खोना कर रहे हैं जबकि निर्देशन की बागडोर संभाली है शिवम शर्मा  ने।  डॉ कुमकुम सिंह इस फिल्म की सह निर्मात्री है जबकि लक्ष्मण ( राकेश कुमार ) सहयोगी निर्देशक व किरण शर्मा रचनात्मक प्रमुख हैं जबकि ए बी स्टूडियो  सहयोगी निर्माता है। फिल्म में यश व परी सिंघानिया के साथ खलनायक संजय पांडे , सीमा सिंह, आनंद मोहन, बालेश्वर सिंह, प्रकाश जैस, बिपिन सिंह, राजकिशोर शाही, किरण शर्मा, सुशील सिंह, अनिल पाठक ,  बबिता, मनीषा, अस्लैन,रविकिशन मिश्रा ,  बॉबी  गिल,  आदि मुख्य भूमिका में हैं। फिल्म  के प्रचारक उदय भगत हैं।  उल्लेखनीय है की फिल्म  का फर्स्ट  लुक पहले  ही दर्शको में कौतुहल  का निर्माण कर चुका है . एक्शन  इमोशन और गीत संगीत बलम रसिया का मजबूत पक्ष है।
 निर्देशक शिवम शर्मा ने बताया की फिल्म की कहानी में इतने रोमांच हैं की उन्हें चंद शब्दों में उल्लेख करना मुश्किल है।  बहरहाल , दर्शको की बेताबी बढ़ाने में सफल रही बलम रसिया का दर्शको को बेसब्री से इन्तजार है।udaybhagat@gmail.com

हॉट केक हुई सी पी आई मूवीज की संग्राम


भोजपुरी फिल्मो के संकटमोचन कहे जाने वाले फिल्म निर्माता व फाइनेंसर  सुजीत तिवारी के बैनर तले बनी भोजपुरी फिल्म संग्राम भोजपुरी फिल्म जगत में हॉट केक बन चुकी है।  अभी फिल्म का पोस्ट प्रोडक्शन चल रहा है और वितरकों ने बोली लगानी शुरू कर दी है। उल्लेखनीय है की सी पी आई मूवीज ( सुजीत तिवारी ) की इस फिल्म के निर्देशक हैं जगदीश शर्मा जबकि कार्यकारी निर्माता है इंद्रजीत शर्मा।   फिल्म में पवन सिंह, विराज भट्ट, काव्या, अमर ज्योति, अवधेश मिश्रा, ब्रजेश त्रिपाठी, के के गोस्वामी, आशुतोष खरे  आदि की मुख्य भूमिका है।  सुजीत तिवारी के अनुसार , संग्राम एक अलग कहानी और बड़े कैनवास पर बनी फिल्म है। उन्होंने बताया की फिल्म का म्यूजिक जल्द  ही रिलीज़ किया जायेगा , कई बड़ी म्यूजिक कंपनी ने म्यूजिक की राइट के लिए उनसे संपर्क किया है।  म्यूजिक रिलीज़ के बाद ही फिल्म के रिलीज़ की घोषणा की जाएगी . फिल्म के म्यूजिक डायरेक्टर हैं अमन श्लोक, कैमरा मेन हैं फ़िरोज़ खान जबकि संवाद लेखक है सुरेन्द्र मिश्रा।  पिछले साल भोजपुरी की पहली  सीक्वल फिल्म प्रतिज्ञा २ का निर्माण कर भोजपुरी फिल्म जगत को फील गुड का एहसास कराने वाले सुजीत तिवारी संग्राम के बाद मोकामा ज़ीरो  किलोमीटर का निर्माण करेंगे , जिसके निर्देशक हैं संतोष मिश्रा।  udaybhagat@gmail.com

Sunday, May 17, 2015

मगधपुत्र की शूटिंग समाप्त Magadhputra - shooting completed


गौरवशाली इतिहास वाले मगध क्षेत्र यानी आज का गया और आसपास के इलाके के नाम पर बनी पहली भोजपुरी फिल्म मगधपुत्र की शूटिंग हाल ही में गया में समाप्त हुई।  होदा इंटरटेनमेंट और वेद फिल्म्स द्वारा प्रस्तुत इस फिल्म के लेखक और निर्देशक हैं कुमार सरोज।  फिल्म में कमरुल खान, प्रदीप रॉय , सपना जायसवाल , वीणा कदम  , प्रज्ञा तिवारी , चिन्टूलाल और शशिभूषण सिंह मुख्य भूमिका में हैं।  फिल्म का संगीत दिया है डी के लार्ड ने जबकि पटकथा व संवाद चिंटू लाल यादव का है।  फिल्म के नृत्य निर्देशक हैं आर्यन देव।  निर्देशक कुमार सरोज के अनुसार , मगधपुत्र आज के वर्तमान हालात को केंद्र में रख कर बनी एक एक्शन फिल्म है जिसमे मनोरंजन के हर पहलू का ध्यान रखा गया है।  अभिनेता कमरूल खान ने बताया की वे पुलिस ऑफिसर की भूमिका में हैं और उनके अपोजिट हैं नवोदित अदाकारा सपना जायसवाल।  फिलहाल फिल्म के पोस्ट प्रोडक्शन का काम चल रहा है और फिल्म जल्द ही दर्शको के समक्ष होगी।  udaybhagat@gmail.com